LATEST:


विजेट आपके ब्लॉग पर

सोमवार, 21 जनवरी 2013

कायरता


हम  कायर बने रहना
पसंद करते हैं,
जब तक कि हमारा सिर  
शेर के जबड़े में
न हो !

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

आपकी मूल्यवान प्रतिक्रिया का स्वागत है